Google+ Badge

Wednesday, 1 February 2017

तुम नहीं मिले तो क्या हुआ

तुम नहीं मिले तो क्या हुआ 
तेरे रूप में मिला मुझे आसमां
वो आसमां 
जो तेरे साये की तरह 
हर -वक़्त मेरे साथ चला 
हर -वक़्त मेरे साथ रहा 
कड़ी धूप में भी 
और अँधेरी रात में भी ..... 


सालिहा मंसूरी

0 comments:

Post a Comment